Search

आभासी दुनिया!

आभासी दुनिया | Virtual World | 13th June 2022 | Virtual Wire

 

Picture -https://uwaterloo.ca/


आज हम एक ऐसी वर्चुअल दुनिया की बात कर रहे है जिसकी कल्पना आज से कुछ वर्षो पूर्व कर ली गयी थी और एक अमेरिकी लेखक नील सटीफैंसन ने सन 1992 मे स्नोक्रैश नामक अपने एक नावेल मे इसे शब्दों मे उतारा था।

यूँ तो मनुष्य आज कम्पयूटर, नेटवर्क, फेसबुक,ट्विटर,इंस्टाग्राम आदि सोशल नेटवर्किंग साइटस के माध्यम से एक दूसरे से जुड़ा हुआ है,चैट करता है,अपने अनुभव सांझा कर लेता है,मीटिंग करता है,नौकरी का इंटरव्यू,अपॉइंटमेंट लैटर तक प्राप्त कर लेता है।पर मनुष्य का मन भला चैन से कहाँ बैठ सकता है उसे तो और ऊँची उड़ान भरनी थो। इसी उड़ान को नाम दिया मैटावरस।अगली कुछ पंक्तियों मे हम इसी की चर्चा करेंगे। मैटावरस दो शब्दो से मिलकर बना है। मैटा+वर्स ।मैटा का अर्थ है परे यानी ( beyond) और वर्स का अर्थ है ब्रह्मांड। यानी ब्रह्मांड से परे।फेसबुक कम्पनी के मालिक मार्क जुकरबर्ग ने फेसबुक के नाम को अब मैटा नाम दिया है।

Picture -lynxpro.com/


माइक्रोसाफ्ट, चिपमेकर और कई गेम कम्पनिया भी इस दौड़ मे साथ है जो जुटी हुयी है इस टैकनोलोजी को यथार्थ रूप देने की। इस टेक्नोलोजी मे वर्चुअल रियेलिटी हैडसेट और आगमैंटिड रियेलिटी मे चश्मे,स्मार्टफोन,एप के ज़रिये हम एक ऐसे स्पेस मे प्रवेश कर सकेंगे जो इस दुनिया से अलग होगा और बहुत विशाल होगा। ये होगा मैटावरस का वर्चुअल स्पेस।यहाँ हम अपना एक अवतार क्रिएट कर ,खुद घर मे रह कर अपने दोस्तो संग पार्टी कर सकेंगे,माल मे शॉपिंग कर सकेगेदूसरे देश मे जाकर सामान खरीद सकेंगे। और तो और प्लाट,बंगला,गाड़ीतक खरीद सकेंगे पर हाँ यहाँ की करेंसी अलग होगी क्रिपटोकरेंसी।यह खरीद फरोख्त होगी बिटकाइन के द्वारा जिसका संचालन बलाॅकचेन द्वारा होगा जिसमे हर लेनदेनऔर ट्रांजैक्शन रजिस्टर्ड होगा जो अपरिवर्तनीय होगा और जिसका कोई बैंक नही होगा । अभी यह सब कंसैपचुअल स्टेज पर है पर इस पर कार्य पूरे ज़ोर शोर से चल रहा है उम्मीद है आने वाले आठ-दस वर्षो मे हम इसका लुत्फ उठा रहे होंगे।

91 views0 comments

Recent Posts

See All